<

Press Release 1- 07.08.2018-Delhi State

Press Release 1- 07.08.2018-Delhi State

 दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने तीनों महापौरों को निर्देशित किया है कि वे नगर निगमों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलायें और यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी तोड़फोड़ या सीलिंग मौखिक आदेशों के आधार पर न की जाये क्योंकि मुख्यमंत्री आवास में एक सर्वदलीय बैठक में माॅनिटरिंग कमेटी के सदस्यों ने स्पष्ट पुष्टि की थी कि वे कोई मौखिक आदेश नहीं देते 

नई दिल्ली, 7 अगस्त।  दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने तीनों नगर निगमों के महापौरों को यह निर्देश दिया है कि वे यह सुनिश्चित करें कि नगर निगम के कर्मचारी बिना लिखित आदेश के सीलिंग या तोड़फोड़ के कार्य न करें। ऐसी कोई भी कार्यवाही करने से पहले निगम के कर्मचारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिये कि प्रभावित नागरिकों को कारण बताओ नोटिस का समय मिल गया है जैसा कि दिल्ली नगर निगम अधिनियम 1957 के अधीन आवश्यक है। 

श्री तिवारी ने कहा है कि दिल्ली के मुख्यंमत्री द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के दौरान माॅनिटरिंग कमेटी के सदस्यों द्वारा इस बात की स्पष्ट पुष्टि की गई थी कि वे कोई मौखिक आदेश नहीं देते हैं। 

हमारी जानकारी में यह बात आती रही है कि लगभग प्रत्येक दिन नगर निगम के कर्मचारी अनधिकृत कार्यवाही करते हैं और जन प्रतिनिधियों द्वारा पूछे जाने पर उस समय उपस्थित अधिकारी माॅनिटरिंग कमेटी के सदस्यों द्वारा दिये गये मौखिक आदेश का हवाला देते हैं। 

ऐसे मौखिक आदेश विधि सम्मत नहीं है और इसलिये महापौरों को आयुक्तों, उपायुक्तों और जोनल बिल्डिंग एण्ड लाइसेंसिंग विभाग के प्रमुखों के साथ बैठक करनी चाहिये और इस बात को स्पष्ट करना चाहिये कि उन फील्ड स्टाॅफ के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी जो शो काॅज नोटिस का समय दिये बिना मौखिक आदेश पर ऐसी कार्यवाही करते हैं। 

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने इस संदर्भ में आज किये गये एक ट्वीट में माॅनिटरिंग कमेटी द्वारा जारी किये गये मौखिक आदेशों की लगातार आ रही रिपोर्टों की ओर मुख्यमंत्री का भी ध्यान आकर्षित किया है और कहा है कि यह दुखद है कि मुख्यमंत्री इस पर एक भी शब्द नहीं बोल रहे जबकि ऐसी रिपोर्टें मिल रही हैं। उन्हें भी चाहिये कि जनहित में इसका विरोध करें।

 
 

DELHI BJP PRESIDENT DIRECTS MAYORS TO CALL MEETING OF SENIOR MUNICIPAL OFFICIALS AND ENSURE THAT NO DEMOLITION OR SEALING IS DONE CITING VERBAL ORDERS OF ANY AUTHORITY AS MONITORING COMMITTEE MEMBERS HAD IN AN ALL PARTY MEETING AT CM HOUSE ASSURED THAT THEY DO NOT ISSUE VERBAL ORDERS

 

New Delhi, 7th Aug.  Delhi BJP President Shri Manoj Tiwari has directed the Mayors of all 3 Municipal Corporations to ensure that the municipal staff does not carry out any sealing or demolition without written orders. In fact before taking any penal action the municipal staff should ensure that a proper show cause notice time is allowed to citizens as mandatory under Delhi Municipal Act 1957.

 

Shri Tiwari has said that during an all party meeting called by the Chief Minister of Delhi it was cross confirmed by the Members of Supreme Court of India appointed Monitoring Committee that they do not issue verbal orders.

 

Yet it has been coming to our knowledge almost every day that Municipal Staff takes unwarranted actions and on being questioned by public representatives the officials present at the time cite verbal orders received from Members of Monitoring Committee.

 

These verbal orders are not lawful hence the Mayors should hold meetings with Commissioners, Deputy Commissioners & Zonal Building & Licensing Departments Heads and make it clear that disciplinary action will be taken against field staff carrying out any penal action citing verbal orders without allowing mandatory notice period.

 

Delhi BJP President in a tweet made in this context today has drawn the attention of the Chief Minister towards the continued reports of verbal orders being issued by the Monitoring  Committee and has said that it is sad that the CM is not speaking a word on this despite news reports. He should also raise a protest against this in the wider public interest.

मीडिया विभाग 

9811040330 

Media Department 

9811040330